UP BED: बीएड में काउन्सलिंग हेतु प्रदेशभर के विश्वविद्यालयों से बीएड सीटों का ब्यौरा मांगा



 प्रदेश के 532 बीएड कॉलेज इस बार राज्य प्रवेश परीक्षा की काउंसलिंग प्रक्रिया से बाहर हो सकते हैं।
 दरअसल, लखनऊ विश्वविद्यालय (एलयू) की ओर से कॉलेजों को 20 मई तक सीटों का ब्योरा मुहैया करवाने
 को कहा गया था लेकिन 532 कॉलेजों ने अब तक नहीं दिया है। एलयू ने कॉलेजों की दिक्कतों को देखते हुए 
उनके लिए एक दिन और बढ़ा दिया है। मंगलवार तक जो भी कॉलेज सीटों का ब्योरा नहीं देंगे वह तीनों चरण 
की काउंसलिंग से बाहर कर दिए जाएंगे। यह जानकारी बीएड के स्टेट को-ऑर्डिनेटर प्रो. एनके खरे ने दी।

खरे ने बताया कि काउंसलिंग एक जून से शुरू होनी है। ऐसे में पहले से ही कॉलेजों का ब्योरा अपलोड करना
 होगा। जो भी कॉलेज सीटों का ब्योरा नहीं देंगे उनका नाम बीएड की काउंसलिंग वेबसाइट पर अपलोड नहीं
 किया जाएगा। ऐसे में जब अभ्यर्थी ऑनलाइन सीट लॉक करता है उस समय ऐसे कॉलेज सूची में नहीं होंगे।
 तीनों चरण की काउंसलिंग होने के बाद फिर सीधे उन्हें पूल काउंसलिंग में शामिल किया जाएगा। कुल 2400 कॉलेज हैं जिनमें सोमवार तक 1868 कॉलेजों की सीटों का ब्योरा ही मिला है।

पहले चरण में 25 हजार रैंक तक वालों को मौका
काउंसलिंग का शेड्यूल एलयू ने तैयार कर लिया है। दो दिनों के अंदर विवि की वेबसाइट पर इसे अपलोड कर
 दिया जाएगा। इस बार बीएड काउंसलिंग चार चरणों में होगी। पहले में 25 हजार रैंक तक के अभ्यर्थियों को
 शामिल किया जाएगा। इसके बाद दूसरे में 75 हजार रैंक तक के अभ्यर्थी शामिल होंगे। वहीं, तीसरे में एक
 लाख 40 हजार रैंक तक के अभ्यर्थी शामिल हो सकेंगे। चौथे में अंतिम रैंक तक वाले अभ्यर्थी की काउंसलिंग
 होगी। यह चारों चरण 24 जून तक पूरे कर लिए जाएंगे। इसके बाद 30 जून तक दो बार पूल काउंसलिंग
 करवाकर खाली सीटों को भरने को मौका दिया जाएगा। इसके बाद भी सीटें खाली रहने पर जुलाई के पहले सप्ताह में सीधे एडमिशन का मौका कॉलेजों को दिया जाएगा। (navbharattimes)



 BED counseling

ALSO READ 


LATEST NEWS :-